Tuesday, 20 September 2016

प्यार

प्यार



जाने कितने संसार बिखर गए माता तेरे प्यार में
जाने कितने लाल गुजर गए माता तेरे प्यार में
गुज़र गए और बिखर गए जो फूल चुने थे प्यार से
आँचल के तेरे रंग रंगा गए माता तेरे प्यार में ॥